हेशटेग क्‍या है और उनको कैसे काम मे लेवें

हम किसी भ्‍ाी मेसेज के साथ हेशटेग भेज सकते है। जो हेशटेग जितनी बार भेजा जायेगा, उसकी पोपुलेरिटी बढती है और वह मैसेज और हेशटेग की इन्‍टरनेट पर पोपुले‍रिटी बढती है।

जितना हेश टेग बढेगा, हमारी सही बात उतनी ही लोगों के सामने पहुचेगी।

आप जब भी कोई मेसेज, फोटो किसी भी सोसिल मिडिया जैस वाटसअप, फेसबुक आदि पर पोस्‍ट करे तब उसके साथ # लगाकर पोस्‍ट करें।

जैसे - #विश्‍व_आदिवासी_दिवस

#आदिवासी_परिवार

#मैं_आदिवासी_हुं

#aadivasi_hak_5th_schedule
#ग्रामसभा
#13(3)क
#पांचवी_अनुसूची

यहां ये शब्‍द हेशटेग कहलाते है। सोशल मिडिया इनको हेशटेग समझता है और जितने भी हेशटेग लगाकर मेसेज किये जाते है, सोशल मिडिया खुद, उन मैसेज को अन्‍य लोगों तक पहुचांता है।
हमें किसी भी बात को trend में लाने के लिये  15 मिनट में 900 यूजर के अकाउंट से 2000 ट्विट चाहिए। तब ही ट्रेंड में आ पायेगा
 इसलिये कोई भी मेसेज के साथ हेशटेग जैसे #पांचवी_अनुसूची या #मैं_आदिवासी_हुं आदि भी लगायें।

NEWS PHOTO: 

अपने विचार यहां पर लिखें

12 + 8 =